मृदा प्रदूषण के कारण और उपाय Mrida Pradooshan ke karan or upay

मृदा प्रदूषण के कारण और उपाय Mrida Pradooshan ke karan or upay 

हैलो दोस्तों आपका आज के इस लेख मृदा प्रदूषण के कारण और उपाय (Mrida Pradooshan ke karan or upay) में बहुत-बहुत स्वागत है। हमारे इस लेख मृदा प्रदूषण किसे कहते हैं में आप मृदा प्रदूषण किसे कहते हैं? मृदा प्रदूषण कैसे होता है? के साथ

मृदा प्रदूषण के कारण तथा मृदा प्रदूषण के निवारण रोकथाम नियंत्रित करने के उपाय के बारे में पड़ेंगे। तो आइए दोस्तों शुरू करते हैं आज का यह लेख मृदा प्रदूषण के कारण और उपाय:- 

इसे भी पढ़े:फीताकृमि के लक्षण जीवन चक्र और बीमारियाँ

मृदा प्रदूषण किसे कहते हैं कारण

मृदा प्रदूषण किसे कहते हैं what is soil pollution 

मृदा यानी की मिट्टी प्रकृति की वह अमूल्य संपदा है जिसके द्वारा ही समस्त जीव धारियों का जीवन अस्तित्व में है, क्योंकि मृदा के द्वारा ही विभिन्न प्रकार की खाद्य सामग्री उपजाई जाती है।

मृदा रचना चट्टानों के छोटे-छोटे टुकड़ों, जीवाश्म और जल के मिश्रण से होती है, इसलिए मृदा में विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व (Nutrients) जीवाश्म (Fossils) तथा तापमान आदि उपस्थित होते हैं।

उपर्युक्त पोषक तत्वों के द्वारा पौधों (Nutrition) के पोषण का कार्य होता है और पौधों से खाद सामग्री के रूप में बीज फल पत्तियां प्राप्त होती हैं।

किंतु जब मृदा की भौतिक और रासायनिक गुणवत्ता (Physical and chemical quality) में कोई भी परिवर्तन होता है, तब उस परिवर्तन को मृदा प्रदूषण के नाम से जाना जाता है।

साधारण शब्दों में कह सकते हैं, कि ऐसे रासायनिक या अवांछित तत्व जो मिट्टी में आकर मिल जाते हैं और मिट्टी की उर्वरा शक्ति कम कर देते हैं। उस मृदा को प्रदूषित मृदा और उस स्थिति को मृदा प्रदूषण Soil Pollution) कहा जाता है।

जब मिट्टी में प्रदूषित जल, रसायनिक तत्व कूड़ा कचरा विभिन्न प्रकार की धूल कण जो रासायनिक तत्वों से युक्त हो आदि अधिक मात्रा में प्रवेश कर जाते हैं,

तो ऐसी स्थिति में मिट्टी के प्राकृतिक गुण (Natural properties) नष्ट हो जाते हैं और इस स्थिति को मृदा प्रदूषण कहा जाता है।

मृदा प्रदूषण किसे कहते हैं कारण

मृदा प्रदूषण के कारण Causes of soil pollution 

मृदा प्रदूषण के विभिन्न कारण हैं, जिनमें से कुछ कारण निम्न प्रकार से हैं:- 

औद्योगिकरण (Industrialization) - बढ़ता हुआ औद्योगिकरण मृदा प्रदूषण का सबसे प्रमुख कारण माना जाता है। विभिन्न प्रकार के ऐसे रासायनिक उद्योग है, जिनका कूड़ा - कचरा खेतों में डाल दिया जाता है,

सीमेंट कारखाने से निकलने वाले धूल के कारण सीसा, जस्ता आदि के कण मृदा में मिल जाते हैं और मृदा के पोषक तत्वों (Nutrients) को नष्ट कर देते हैं, जिससे मृदा उपजाऊपन खो देती है और प्रदूषित हो जाती है।

घरेलू पदार्थ (Household items) - घरों से निकलने वाला कूरा-कचरा प्लास्टिक का कचरा पॉलीथिन प्लास्टिक (Polythene plastic) के अन्य पदार्थ खेतों में पहुंच जाते हैं, जिनके कारण मृदा के पोषक तत्व नष्ट होने लगते हैं।

कीटनाशक दवाओं का प्रयोग (Use of insecticides) - बढ़ती हुई जनसंख्या के कारण अधिक उपज के लिए लोग विभिन्न प्रकार की कीटनाशक दवाओं का प्रयोग

कीड़ों को मारने के लिए करते हैं, किंतु यह मृदा पर भी विपरीत प्रभाव डालते है और मृदा के पोषक तत्व नष्ट हो जाते हैं, जिससे मृदा प्रदूषण होता है।

मृदा अपरदन (Soil erosion) - मृदा अपरदन के द्वारा मृदा अपनी उपजाऊपन खो देती है। जब जल या हवा के कारण मिट्टी की ऊपरी परत बह जाती है,

या हवा के साथ उड़ जाती है जिसमें विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व होते हैं। इस स्थिति में मृदा अपना उपजाऊपन (Fertility) खोकर प्रदूषित हो जाती है।

मृदा प्रदूषण के प्रभाव Bad result of soil pollution 

मृदा प्रदूषण एक ऐसा प्रदूषण है, जो सबसे घातक प्रदूषण माना जाता है, क्योंकि मृदा में उपस्थित विभिन्न प्रकार के पोषक तत्व जो पौधों को पनपने के लिए महत्वपूर्ण होते हैं।

अगर वह पोषक तत्व (Nutrients) नष्ट हो जाए तो सभी प्रकार के पौधे ही नष्ट हो जाएंगे और खाद सामग्री का अभाव होने लगेगा, इसलिए मृदा प्रदूषण का सीधा प्रभाव पेड़ पौधों पर पड़ता है।

मृदा की उर्वरा शक्ति (Soil fertility) कम होने पर फसलों की वृद्धि भी बहुत कम होती है और अच्छी उपज प्राप्त नहीं हो पाती।

वर्तमान में विभिन्न प्रकार के रासायनिक उर्वरक और कीटनाशक दवाओं का प्रयोग लगातार किया जा रहा है, जिसके कारण विभिन्न प्रकार की फसलें बहुत कम मात्रा में पैदा होती हैं

और एक फसलें भी विभिन्न प्रकार के रासायनिक कीटनाशक दवाओं के संपर्क में आ जाती है और जब मनुष्य उस खाद्य सामग्री को खाता है, तो घातक रसायन मनुष्य के शरीर में भी पहुँच जाते हैं।

जिससे मनुष्य को भी स्वास्थ्य में क्षति पहुंचती है, जबकि विभिन्न प्रकार के जीव-जंतु भी रासायनिक कूड़ा कचरा तथा दवाओं के प्रयोग के कारण कई बीमारियों का शिकार हो जाते हैं और नष्ट हो जाते हैं।

मृदा प्रदूषण से होने वाले रोग Desease caused by soil pollution 

मृदा प्रदूषण में कई ऐसे घातक रासायन होते है, जो मनुष्य के साथ पशु पक्षियों सहित पेड़ पौधों के लिए भी नुकसान दायक होते है। आमतौर पर मृदा प्रदूषण से सिर दर्द, समुद्री बीमारी और उल्टी, छाती में दर्द, खांसी और फेफड़ों की समस्या, थकान,

त्वचा के लाल चकत्ते आदि देखी जाती है, किन्तु कई घातक रासायन मिट्टी में होते है तो ल्यूकेमिया (Leukemia) मिट्टी में बैंजीन के कारण तंत्रिका तंत्र सम्बंधित रोग मिट्टी में लैड की उपस्थिति के कारण जबकि पारा की उपस्थिति के कारण गुर्दे तथा लिवर की भयानक बीमारियाँ होती है। इसके अलावा मिट्टी में अभ्रक होने से तथा एस्बेटस होने से कैंसर (Cancer) आर्सेनिक की उपस्थिति से आर्सेनिकोसिस (Arsenicosis) जैसी घातक बीमारियाँ भी हो जाती है।

मृदा प्रदूषण रोकने के उपाय Measures to prevent soil pollution 

मृदा प्रदूषण ऐसा प्रदूषण है, जो सबसे खतरनाक प्रदूषण है, क्योंकि यह मिट्टी से संबंधित है और मिट्टी के द्वारा ही सभी प्रकार की खाद सामग्री (Food Material) को पैदा उपजाया जाता है।

अगर मृदा को दूषित होने से नहीं रोका गया तो खाद्य सामग्री बहुत कम मात्रा में और संक्रमित ही प्राप्त होगी। जिससे मनुष्य तथा पशु पक्षियों और जीव-जंतुओं के स्वास्थ्य पर भी प्रतिकूल प्रभाव देखने को मिलेगा।

इसलिए मृदा प्रदूषण को रोकने के लिए कीटनाशकों (Pesticides) का प्रयोग तथा रासायनिक उर्वरकों (Chemical fertilizers) का उपयोग पर नियंत्रण करना चाहिए।

हमें जैविक खाद का उपयोग अधिक से अधिक मात्रा में करना चाहिए। इसके साथ ही मृत पशु कूड़ा कचरा रासायनिक पदार्थ को खेतों में तथा उपजाऊ जमीनों पर नहीं दबाना चाहिए।

रासायनिक पदार्थों घरेलू पदार्थों को गड्ढा खोदकर ऐसी जमीन में डालना चाहिए दबाना चाहिए जो उपजाऊ नहीं हो। भूमि का प्रयोग बहुत कम करना चाहिए

घरों से निकलने वाले मल को नदियों द्वारा आवासीय स्थलों से दूर ले जाना चाहिए। इस प्रकार से मृदा प्रदूषण को रोका जा सकता है।

दोस्तों इस लेख में आपने मृदा प्रदूषण किसे कहते हैं? (What is soil pollution) मृदा प्रदूषण के कारण तथा निवारण के बारे में पढ़ा आशा करता हूँ, यह देख आपको अच्छा लगा होगा।

इसे भी पढ़े:-

  1. अमीबा के लक्षण प्रजनन जीवन चक्र रोग Symptoms of Amoeba
  2. पादप होर्मोन्स क्या है उनके प्रकार तथा कार्य What is plant hormonse

0/Post a Comment/Comments